-->

Search Bar

वोल्टेज(Voltage) तथा विधुत धारा (Current) में क्या अंतर होता है?

Post a Comment

 वोल्टेज तथा करंट के बीच अंतर 

वोल्टेज तथा करंट इलेक्ट्रिसिटी से सम्बंधित दो बहुत ही महत्वपूर्ण पैरामीटर है। वोल्टेज एक प्रकार का विधुतचुंबकीय बल होता है जिससे किसी विधुत परिपथ में विधुत धारा का प्रवाह होता है। वोल्टेज तथा करंट दोनों एक दुसरे से सम्बंधित है परन्तु इनमे अंतर होता है। जैसे वोल्टेज दो बिंदु के बीच के विभव(potential) का अंतर होता है जबकि विधुत धारा (Current) इन दो बिंदुओ के बीच विधुत क्षेत्र (Electric Field) के कारण प्रवाहित होने वाले आवेश की दर होती है। 

वोल्टेज (Voltage) की परिभाषा 

वोल्टेज एक तरह का विधुत चुंबकीय दाब होता है जिसके वजह से विधुत धारा का प्रवाह विधुत परिपथ में होता है। जब वोल्टेज के परिमाण ज्यादा होता है तब प्रवाहित होने वाली विधुत धारा का परिमाण भी बहुत ज्यादा होता है। इसके विपरीत जब वोल्टेज का परिमाण कम होता है तब प्रवाहित होने वाली विधुत धारा का परिमाण भी कम होता है। वोल्टेज एक भौतिक राशि होता है इसलिए इसका SI मात्रक वोल्ट होता है जिसे अंग्रेजी बड़े अक्षर V द्वारा लिखा जाता है। वोल्टेज को मुख्य रूप से दो वर्गों में वर्गीकृत किया जाता है। 
  • प्रत्यावर्ती  वोल्टेज (Alternating Voltage)
  • दिष्ट  वोल्टेज (Direct Voltage)
प्रत्यावर्ती वोल्टेज ऐसा वोल्टेज होता है जिसकी दिशा (Polarity) तथा परिमाण लगातार बदलता रहता है। जबकि दिष्ट वोल्टेज की दिशा तथा परिमाण दोनों समय के साथ नहीं बदलते है। प्रत्यावर्ती वोल्टेज को जनरेटर या अल्टरनेटर द्वारा उत्पन्न किया जाता है जबकि दिष्ट वोल्टेज को बैटरी या सोलर सेल द्वारा। 

विधुत धारा (Current) की परिभाषा 

विधुत धारा आवेश प्रवाह की दर(Charge flow rate) होता है। जब किसी चालक के दोनों सिरों के बीच कोई वोल्टेज आरोपित किया जाता  है तब चालक के अन्दर मौजूद मुक्त इलेक्ट्रान (Free Electron) अपने ऊपर एक विधुत बल का अनुभव करते है और इस बल के कारण चालक के अंदर भागने लगते है। चूँकि इलेक्ट्रान आवेशित कण होते है इसलिए उनके प्रवाह को ही विधुत धारा (Electric Current) कहते है। वोल्टेज की तरह विधुत धरा भी एक भौतिक राशि है इसलिए  इसको एम्पियर में मापा जाता है तथा इसका SI मात्रक एम्पियर होता है जिसे अंग्रेजी के बड़े अक्षर A द्वारा लिखा जाता है। वोल्टेज की तरह विधुत धारा भी दो वर्गों में वर्गीकृत किया जाता है :
  • प्रत्यावर्ती विधुत धारा (Alternating Current)
  • दिष्ट धारा (Direct Current) 
ऐसी विधुत धारा जिसकी दिशा तथा परिमाण दोनों समय के साथ लगातार बदलती रहे उसे प्रत्यावर्ती विधुत धारा कहते है। जबकि दिष्ट धारा ऐसी विधुत धारा होती है जो समय के साथ नियत रहती है ,अर्थात दिष्ट धारा का समय के साथ न ही दिशा बदलता है और न ही परिमाण। 

वोल्टेज तथा विधुत धारा में अंतर सारणी 

Comparison

का आधार

वोल्टेज(Voltage)

विधुत धारा (Current)

परिभाषा

दो बिंदु के

विभव का अंतर

आवेश प्रवाह की दर

मात्रक

वोल्ट

एम्पियर

सिंबल

V

I

फार्मूला

 वोल्टेज = 

कार्य/आवेश 

 विधुत धरा = 

आवेश/समय 

प्रकार

प्रत्यावर्ती तथा

दिष्ट वोल्टेज

प्रत्यावर्ती तथा दिष्ट धारा

श्रोत

जनरेटर या

अल्टरनेटर

वोल्टेज

मापन

यन्त्र

वोल्टमीटर

अमीटर

यह भी पढ़े 

Post a Comment

Subscribe Our Newsletter