-->

Maximum Demand In Hindi - इलेक्ट्रिकल डायरी

Post a comment

  Maximum Demand तथा Demand Factor क्या होता है?

किसी पावर स्टेशन से उत्पादित अधिकतम विधुत ऊर्जा का आकलन तथा विधुत ऊर्जा की उत्पादन क्षमता ,इस बात पर निर्भर करता है की उस पावर प्लांट से जुड़े कुल लोड का Maximum Demand क्या है  तथा यह समय के साथ  कैसे बदलता है। 

पावर प्लांट से जुड़े उपभोगता द्वारा संचालित प्रत्येक विधुत यन्त्र की अधिकतम विधुत ऊर्जा खपत करने की क्षमता होती है जिसे Rated Capacity  कहते है। पावर प्लांट से जुड़े ग्राहक के घर या कंपनी में विधुत ऊर्जा से संचालित सभी यंत्रो के Rated Capacity के योग को Connected Load कहते है।

Maximum Demand क्या  होता है ?

किसी ग्राहक द्वारा किसी दिए गए एक निश्चित समय अंतराल में उपयोग की जाने वाली अधिकतम विधुत विधुत ऊर्जा की मात्रा को Maximum Demand कहते है। यदि कोई ग्राहक अपने  सभी विधुत यंत्रो को  एक साथ उनके पूरी क्षमता से उपयोग करता तब इस दशा  में उस ग्राहक का Maximum Demand ,Connected Load के बराबर होगा। 

Demand Factor क्या होता है?

लेकिन व्याहारिक तौर पर देखा गया है की कोई भी ग्राहक अपने सभी विधुत यन्त्र को एक साथ संचालित नहीं करता है। इसलिए किसी भी ग्राहक या उपभोगता का Maximum Demand कुल Connected Load के बराबर नहीं होता है। Maximum Demand हमेशा कुल Connected Load से कम होता है। किसी उपभोगता के Maximum Demand तथा कुल Connected Load के अनुपात को Demand Factor कहते है। 

maximum demand
उदहारण :-1 
यदि किसी ग्राहक के घर में 100 वाट के कुल 10 विधुत बल्ब जुड़े हुए है। तब इस ग्राहक के कुल Connected Load (10 x 100 = 100 वाट)  होगा। अब मान ले की यह  ग्राहक सभी विधुत बल्ब को एक साथ नहीं जलाता है। यह दिन में केवल तीन विधुत बल्ब ,दो विधुत बल्ब को दूसरे समय तथा शेष  5 विधुत बल्ब को रात के समय जलाता है। अतः पुरे 24 घंटा में में इस व्यक्ति द्वारा एक निश्चित समय अंतराल में उपयोग की जाने वाली अधिकतम  विधुत ऊर्जा (5 x 100 = 500 watt) है।  यही विधुत ऊर्जा की मात्रा ग्राहक की Maximum Demand हुई और Demand Factor  = 500 / 1000 = 0.5 होगी। 
किसी ग्राहक के Demand Factor से यह ज्ञात होता है की वह ग्राहक किसी दिए गए  समय अंतराल में  अधिकतम  कितनी मात्रा में विधुत ऊर्जा खपत करता है। 

उदहारण :-2 

मान ले किसी ग्राहक के घर में कुल 100 वाट के 8 विधुत बल्ब ,60 वाट के दो पंखा तथा 100 वाट के दो tube light लगे हुए है। ये सभी उपकरण एक दिन (24 घंटा )में निम्न समय में संचालित होते है :-

रात 12 बजे से सुबह 5 बजे तक  एक पंखा 

सुबह 5 बजे से सुबह 7 बजे तक दो पंखा तथा एक Tube Light  

सुबह 7 बजे से सुबह 9 बजे तक कोई उपकरण नहीं 

सुबह 9  बजे से शाम 6 बजे तक दो पंखा 

शाम 6 बजे से रात 12 बजे तक पंखा तथा चार विधुत बल्ब 

(1) Connected Load  (2) Maximum Demand (3) Demand Factor (4) 24 घंटा में खपत कुल विधुत ऊर्जा  की गणना करे। 

(1) Connected Load 

कुल Connected Load = घर में लगे सभी विधुत उपकरण की Rated Capacity  = 

8 x 100 + 2 x 60 + 2 x 100  = 800 + 120 + 200 = 1120 वाट 

(2) Maximum Demand 

24 घंटा में संचालित कुल विधुत ऊर्जा =[ (रात 12 बजे से सुबह 5 बजे तक  एक पंखा ) + (सुबह 5 बजे से सुबह 7 बजे तक दो पंखा तथा एक Tube Light) + (सुबह 9  बजे से शाम 6 बजे तक दो पंखा) + (शाम 6 बजे से रात 12 बजे तक पंखा तथा चार विधुत बल्ब) ] ------(1)

24 घंटा में संचालित कुल विधुत ऊर्जा = [ 60 W + (2 x 60 + 100) W + (2 x 60)  W + (4 x 100 + 2 x 60 )W ]

24 घंटा में संचालित कुल विधुत ऊर्जा = [ 60 W + 220 W + 120 W + 520 W ] 

किसी एक समय अधिकतम खपत = 520 W 

अतः Maximum Demand = 520 W 

(3) Demand Factor 

Demand Factor = (Maximum Demand)/(Connected Load )

Demand Factor =  520 / 1120 = 0.464 

(4 ) 24 घंटा में खपत कुल विधुत ऊर्जा  

समीकरण (1) से 

24 घंटा में संचालित कुल विधुत ऊर्जा =[ (रात 12 बजे से सुबह 5 बजे तक  एक पंखा ) + (सुबह 5 बजे से सुबह 7 बजे तक दो पंखा तथा एक Tube Light) + (सुबह 9  बजे से शाम 6 बजे तक दो पंखा) + (शाम 6 बजे से रात 12 बजे तक पंखा तथा चार विधुत बल्ब) ]

24 घंटा में संचालित कुल विधुत ऊर्जा = [ (60 x 5) Wh + {(2 x 60 + 100) x 2}Wh +{ (2 x 60)x 9 } Wh + {(4 x 100 + 2 x 60 ) x 6 }Wh ]

24 घंटा में संचालित कुल विधुत ऊर्जा = [ 300Wh + 440 Wh +1080 Wh + 3120 Wh ]

24 घंटा में संचालित कुल विधुत ऊर्जा = [ 4940 Wh ]

यह भी पढ़े 

Related Posts

Post a comment

Subscribe Our Newsletter