-->

Eddy Current Loss In Hindi - इलेक्ट्रिकल डायरी

Post a comment

 Eddy Current Loss क्या होता है?

यदि किसी लगातार बदलने वाली चुंबकीय क्षेत्र में किसी धातु या चुंबकीय के पदार्थ को रख दिया जाए तो उस धातु या चुंबकीय पदार्थ में फैराडे के विधुत चुंबकीय सिधांत के अनुसार एक वोल्टेज उत्पन्न हो जायेगा तथा इस वोल्टेज के कारण उस पदार्थ में एक विधुत धारा का प्रवाह होने लगेगा। पदार्थ में इस प्रकार उत्पन्न विधुत धारा को Eddy Current कहते है। 

किसी पदार्थ में Eddy Current तभी उत्पन्न होता है जब आरोपित चुंबकीय क्षेत्र का मान लगातार बदल रहा हो।  चूँकि Eddy Current का प्रवाह पदार्थ के अन्दर होता है और इससे किसी भी प्रकार का कार्य नहीं होता है तब पदार्थ के आंतरिक प्रतिरोध के कारण कुछ उर्जा का ह्रास (Loss) होता है और उर्जा ह्रास को ही Eddy Current loss कहते है। Eddy Current loss के कारण पदार्थ के सतह का तापमान बढ़ने लगता है और पदार्थ गर्म हो जाता है।  

ट्रांसफार्मर के प्राइमरी वाइंडिंग में विधुत धारा के कारण उत्पन चुंबकीय फ्लक्स जब ट्रांसफार्मर के कोर से लिंक करता है तब यह कोर में EMF (voltage) उत्पन्न कर देता है जिससे कोर में Eddy Current का प्रवाह होने लगता है और इस Eddy Current के कारण ट्रांसफार्मर में (I2R) loss होता है जिसे Eddy Current loss कहा जाता है।

 यहाँ I Eddy current का परिमाण तथा R कोर का आंतरिक प्रतिरोध है। यदि किसी पदार्थ में होने वाले Eddy Current Loss को कम करना है तब इसमें उत्पन्न होने वाले Eddy Current के परिमाण को कम करना होगा और इसके लिए कोर निर्माण करते वक्त ऐसे पदार्थ का चुनाव करना चाहिए जिसका क्रॉस सेक्शनल एरिया कम हो और इसके लिए  पतले कोर वाले पती का चुनाव किया जाता है जिसे lamination कहा जाता है। यह lamination उच्च किस्म के स्टील तथा सिलिकान का बना होता है। 

कोर निर्माण में प्रयुक्त Lamination के क्रॉस सेक्शनल एरिया कम होने की वजह से कम मात्रा में चुंबकीय फ्लक्स Lamination से लिंक कर पाते है जिससे उसमे उत्पन्न होने वाला Eddy current का परिमाण कम होता है क्योकि कम मात्र में फ्लक्स लिंक होने से उत्पन्न EMF का परिमाण कम होता है। 

Eddy Current Loss ज्ञात करने का फार्मूला 

वैसे तो किसी पदार्थ में उत्पन्न होने वाले Eddy Current Loss को ज्ञात करना आसान नहीं है। लेकिन प्रायोगिक तौर Eddy Current Loss ज्ञात करने के लिए निम्न फार्मूला का प्रयोग किया जाता है :-
Eddy Current Loss in Hindi
यहाँ 
P = होने वाला Eddy Current loss है 
K = eddy current गुणांक है जो पदार्थ पर निर्भर करता है। 
B = चुंबकीय क्षेत्र का घनत्व है। 
t = प्रयुक्त Lamination की मोटाई है। 
f =  चुंबकीय क्षेत्र की आवृति है। 
V = चुंबकीय पदार्थ की आयतन है। 
इस फार्मूला में प्रयुक्त सभी राशिय SI unit में होगी।

यह भी पढ़े 

Related Posts

Post a comment

Subscribe Our Newsletter