- Ceiling fan धीमा क्यों घूमता है और कैसे ठीक करे। - इलेक्ट्रिकल डायरी:हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी

Ceiling fan धीमा क्यों घूमता है और कैसे ठीक करे।

Ceiling fan क्या होता है?(What is Ceiling Fan?)

Ceiling Fan in Hindi

यह एक प्रकार का Single फेज इंडक्शन मोटर होता है। जो सिंगल फेज विधुत सप्लाई पर कार्य करता है। बोल चल की भाषा में इसे छत का पंखा भी कहते है। यह विभिन्न आकार में मिलता है।कोई छत का पंखा छोटा तो कोई बड़ा होता है।किसी पंखा में दो ब्लेड् होता है तो किसी में तीन,चार या छह। इस पंखे का ज्यादातर उपयोग गर्मी के मौसम में उपयोग किया जाता है। 


हमने अक्सर देखा है की हमारे घर में उपयोग होने वाला छत पंखा जैसे जैसे पुराना होता जाता है वैसे वैसे उसकी घूमने की गति धीमी होती जाती है। किसी भी कंपनी के स्पीड कम होने की कुल संभावित कारण चार प्रकार के हो सकते है जिनमे से दो Mechanical Loss तथा दो Electrical Loss से सम्बंधित है। ये संभावित कारण है :-
  • पंखा के Blades का Unbalanced हो जाना 
  • Bearing का ख़राब हो जाना 
  • कपैसिटर (कंडेंसर) का ख़राब हो जाना 
  • Winding का Damage हो जाना 
ऊपर बताये गए चार कारण में से कोई भी एक कारण या एक से अधिक कारण हुआ तब भी पंखा तेज नहीं घूमेगा। अतः पंखा को पुनः अपने पुराने स्पीड के साथ घूमने के लिए ,पंखा में मौजूद समस्या को दूर करना होगा। इसके लिए आप नीचे बताए गए तरीका का उपयोग कर सकते है। 

पंखा के ब्लेड का Unbalanced हो जाना 

पंखा के ब्लेड  डिज़ाइन करते वक्त इसके एक हिस्से को क्षैतिज से कुछ कोण से झुका दिया जाता है तथा दूसरे हिस्से को उठा दिया जाता है। ब्लेड का यह झुकाव Pitch कहलाता है। यह कम से कम 10 डिग्री तथा अधिकतम 30 डिग्री हो सकता है। यह पंखा में उपयोग किए गए ब्लेड संख्या पर निर्भर करता है। 


यदि पंखा के ब्लेड का यह झुकाव थोड़ा सा भी अपने नार्मल वैल्यू से ज्यादा या कम हुआ तब यह पंखे के स्पीड को प्रभावित कर सकता है। इसकी जाँच आप Switch Off कर छत के सतह से किसी सीधी रॉड कर सकते है। यदि पंखे से जुड़े सभी ब्लेड का Level सामान है तब तो पंखे का ब्लेड Unbalanced  नहीं है। 

यदि किसी भी ब्लेड का Level अन्य ब्लेड की तुलना में थोड़ा ज्यादा या कम है तब यह Unbalanced है तथा इसको balanced करने की जरुरत है। वैसे यह समस्या बहुत ही कम देखने को मिलती है। इसलिए Unbalanced होने की संभावना बहुत ही कम होती है। 


इसके अलावा यदि पंखे के टीप पर धूल जम जाये तब भी पंखा धीमा चलने लगता है और पंखा का धीमा चलने का सबसे बड़ा कारण यही है। इसलिए इस समस्या से बचने के लिए अपने घर में लगे पंखा के ब्लेड को नियमित रूप से साफ करते रहना चाहिए। पंखा के ब्लेड के कारण उत्पन्न समस्या Mechanical Loss से संबंधित है।  

Bearing का ख़राब हो जाना 

यह समस्या बहुत पुराने पंखा में अक्सर देखने को मिलता है। ज्यादातर पंखा में यही समस्या उपलब्ध होती है। इसकी जाँच के लिए सबसे पहले पंखा से जुड़े Switch को Off कीजिए तथा पंखा को हाथ से घुमाये। यदि घूमाते वक्त आपको ज्यादा बल प्रयोग करना पड़ता है या पंखा जब चलता है तब चोय चोय की आवाज़ करता है  तब पंखा में धीमा चलने का कारण  Bearing से संबंधित है।

इसके लिए हो सकता है की  Bearing में डाला गया आयल या ग्रीस ख़त्म हो गया हो या  Bearing ही ख़राब हो गया है। Bearing ख़राब होने की संभावना बहुत ही कम है इसलिए आयल या ग्रीस समाप्त होने की सम्भावन सबसे ज्यादा है।

पंखा से जुड़े कपैसिटर अर्थात कंडेंसर का ख़राब होना  

चूँकि हम सभी जानते है हमारे घर में उपयोग किया जाने वाला पंखा एक सिंगल फेज इंडक्शन मोटर होता है और हम यही भी जानते है की कोई भी मोटर सिंगल फेज सप्लाई पर नहीं घूम सकता। मोटर को घूमने के लिए कम से कम दो फेज की आवश्यकता होती है। इसलिए ही सिंगल फेज मोटर में कंडेंसर का उपयोग किया जाता है।
 कंडेंसर सिंगल फेज सप्लाई को डबल फेज सप्लाई में बदल देता है जिससे सिंगल मोटर घूमने लगता है। यदि मोटर से जुड़े कपैसिटर की कैपेसिटी थोड़ी सी भी कम हुई की यह हमारे मोटर को घूमने नहीं देगा। हमारे घर में उपयोग किये जाने वाले पंखे में लगा कंडेंसर की ज्यादातर ख़राब हो जाता है। 


इसलिए पंखा धीमा चलता है। कंडेंसर को जांचने के लिए इसको पंखे से अलग कर ले तथा इसके दोनों टर्मिनल को एक सेकंड के लिए विधुत सप्लाई से जोड़ दे। जोड़ने के बाद सप्लाई से अलग कर ले तथा इस कपैसिटर को किसी 5w क्षमता वाले इलेक्ट्रिक बल्ब से जोड़े। यदि जोड़ने के बाद बल्ब जलता है तब कंडेंसर ठीक है। यदि नहीं तो आपका कंडेंसर ही ख़राब है। इसको Replace कर दे। 

Winding का Damage हो जाना 

किसी भी प्रकार के सिंगल फेज मोटर में दो प्रकार की वाइंडिंग की जाती है। जिस वाइंडिंग में टर्न की संख्या कम होती है उसे Auxiliary Winding तथा जिसमे टर्न संख्या ज्यादा होती है उसे Main Winding कहते है। यदि किसी भी कारणवश इनमे से कोई भी एक वाइंडिंग टूट जाये तब यह मोटर  नहीं चलेगा।

 मोटर से वाइंडिंग की जाँच करने के लिए सबसे पहले मुख्य बोर्ड से पंखा वाला स्विच ऑन करे और पंखा से निकलने वाली ध्वनि को ध्यान से सुने। यदि आपको "घोययय" की आवाज़ सुनाई देती है और पंखा नहीं घूमता है तब पंखा में यह समस्या वाइंडिंग से सम्बंधित है। पंखा में मौजूद यह समस्या कंडेंसर ख़राब होने से भी हो सकता है। इसलिए सावधानी पूर्वक दोनों प्रकार की जाँच करे। जो खराबी निकले उसको दूर करे। 

Ceiling fan धीमा क्यों घूमता है और कैसे ठीक करे। Ceiling fan धीमा क्यों घूमता है और कैसे ठीक करे। Reviewed by PINTU PRASAD on June 07, 2020 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.