Capacitive Load In Hindi : परिभाषा,उदाहरण तथा उपयोग - हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी - हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी -->

Search Bar

Capacitive Load In Hindi : परिभाषा,उदाहरण तथा उपयोग - हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी

Post a Comment

 Capacitive Load क्या होता है?

कोई भी इलेक्ट्रिकल डिवाइस जिसमे कुछ Capacitance होता है वह Capacitive लोड की श्रेणी में आता है। Inductive लोड की तरह Capacitive लोड भी विधुत उर्जा को स्टोर करते है। Capacitive लोड अपने संचालन के वक्त Active Power को Consume करते है और Reactive Power उर्जा श्रोत को वापस करते है। Capacitive लोड पर जब प्रत्यावर्ती विधुत धारा आरोपित किया जाता है तब Capacitive load वोल्टेज परिवर्तन (Rate of Change of Voltage) का विरोध करता है। जिससे Alternating Current, Voltage से 90 डिग्री आगे निकल जाता है अर्थात Capacitive लोड में Electric Current आरोपित वोल्टेज को Lead करता है। 

Capacitive Load में वोल्टेज तथा करंट का Waveform

जैसे की हमने ऊपर बताया की Capacitive लोड में आरोपित वोल्टेज ,प्रत्यावर्ती विधुत धारा (AC) से 90 डिग्री पिछड़ जाता है। अर्थात Capacitive Load के विधुत धारा तथा वोल्टेज के लिए Waveform बनाते समय Current को वोल्टेज से 90 आगे दिखाया जाता है जैसे की नीचे के चित्र में दिखाया गया है:-
Capacitive Load

ऊपर दिए गए waveform  से ज्ञात होता है की जब Capacitive लोड में आरोपित वोल्टेज का मान शून्य या न्यूनतम होता है उस वक्त लोड से प्रवाहित होने वाली विधुत धारा का मान अधिकतम होता है। Inductive लोड की तरह Capacitive load भी आधे समय अन्तराल (half Time Period) के लिए विधुत उर्जा श्रोत (जनरेटर आदि ) से विधुत उर्जा ग्रहण करता है और अगले आधे समय अन्तराल के लिए विधुत उर्जा श्रोत को विधुत उर्जा वापस करता है। Capacitve तथा Inductive Load में अंतर बस इतना होता है की Capacitve लोड विधुत उर्जा Electric field के रूप में स्टोर करता है जबकि Inductive load विधुत उर्जा को Magnetic Field के रूप में स्टोर करता है। 

Capacitive load के उदाहरण 

Capacitve लोड के कुछ उदाहरण निम्न है ;-
  • रेडियो सर्किट 
  • सिंक्रोनस मोटर 
  • कैपेसिटर बैंक 
  • टीवी पिक्चर tube 
  • मोटर स्टार्टर सर्किट 

Capacitive load पॉवर फार्मूला 

Capacitve लोड द्वारा उपभोग किये पॉवर को निम्न सूत्र द्वारा ज्ञात किया जाता है :-

P  = VrmsIrmsCosф

जहाँ 
P = पॉवर 
Vrms= आरोपित वोल्टेज 
Irms= प्रवाहित विधुत धारा 
Cosф = लोड का पॉवर फैक्टर 

Capacitive लोड का उपयोग 

  • Inductive लोड को संतुलित करने के लिए 
  • पॉवर फैक्टर बढाने के लिए 

यह भी पढ़े 

Pintu Prasad
I am an Electrical Engineering graduate who has five years of teaching experience along with Cooperate experience.

Post a Comment

Subscribe Our Newsletter