रासायनिक अभिक्रिया (10th Class): परिभाषा ,प्रकार तथा विशेषता - हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी - हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी -->

Search Bar

रासायनिक अभिक्रिया (10th Class): परिभाषा ,प्रकार तथा विशेषता - हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी

Post a Comment

 रासायनिक अभिक्रिया किसे कहते है?

हम जानते है की दो या दो से अधिक परमाणु आपस में संयोग कर अणु का निर्माण करते है। जब कोई पदार्थ (तत्व या यौगिक) किसी दुसरे पदार्थ से संयोग करता है तब उन पदार्थो के अणु परमाणुओं में टूटने लगते है और दुबारा संगठित होकर भिन्न प्रकार के पदार्थ के अणु का निर्माण करते है। इस प्रक्रिया को ही रासायनिक अभिक्रिया कहते है। रासायनिक अभिक्रिया को निम्न तरीके से परिभाषित किया जा सकता है :
जब कोई पदार्थ अकेले या किसी दुसरे पदार्थ से क्रिया कर भिन्न गुण वाले एक या एक से अधिक नए पदार्थ के अणु  का निर्माण करता है तब वह प्रक्रिया रासायनिक अभिक्रिया कहलाती है।  

रासायनिक अभिक्रिया का उदहारण 

  • दूध से दही का बनाना 
  • भोजन का पचना 
  • फल का पकना 
  • फल से शाराब बनाना  
  • जंग लगना 
  • किसी वस्तु का जलना 

जो पदार्थ रासायनिक अभिक्रिया में भाग लेते है उन्हें अभिकारक कहते है तथा अभिक्रिया के उपरांत जो नया पदार्थ बनता है उसे प्रतिफल कहते है। अभिक्रिया के उपरांत बने नए पदार्थ(प्रतिफल) का भौतिक तथा रासयनिक गुण अभिकारक के गुण से भिन्न होता है। 

रासायनिक अभिक्रिया कितने प्रकार की होती है? 

रासायनिक अभिक्रिया निम्न प्रकार की होती है :-

  • संयोजन रासायनिक अभिक्रिया 
  • वियोजन रासायनिक अभिक्रिया 
  • वैधुत अपघटन रासायनिक अभिक्रिया 
  • विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया 
  • अवक्षेपण रासायनिक अभिक्रिया 
  • उदासीनीकरण रासायनिक अभिक्रिया 
  • प्रकाश रासायनिक अभिक्रिया 
  • आक्सीकरण अवकरण रासायनिक अभिक्रिया 

संयोजन रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

जब दो या दो से अधिक पदार्थ आपस में आपस में संयोग कर नए पदार्थ का निर्माण करते है जिसका गुण अपने मूल पदार्थ के गुण से भिन्न होता है तब इस प्रकार के रासायनिक अभिक्रिया को संयोजन रासायनिक अभिक्रिया कहते है। जैसे हाइड्रोजन तथा ऑक्सीजन के अभिक्रिया का बाद प्रतिफल के रूप में जल का निर्माण होता है। 

वियोजन रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

वैसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमे किसी यौगिक के अणु टूटकर दो या दो से अधिक सरल यौगिक का निर्माण करते है जिसका गुण मूल यौगिक के गुण से बिलकुल भिन्न होता है। वियोजन रासायनिक अभिक्रिया को अपघटन रासायनिक अभिक्रिया भी कहा जाता है। जैसे कैल्सियम कार्बोनेट के टूटने से कैल्सियम ऑक्साइड तथा कार्बन डाई ऑक्साइड का निर्माण होता है। 

 CaCO3 → CaO + CO2

विधुत अपघटन रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

आयनिक बंधन से बने यौगिक के जलिए विलयन में जब विधुत धारा प्रवाहित किया जाता है तब धातु विघटित होकर कैथोड़ पर तथा अधातु एनोड पर एकत्रित होने लगते है। इस प्रक्रिया को विधुत अपघटन रासयनिक अभिक्रिया कहते है। 

विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

वैसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमे कोई तत्व किसी यौगिक में मौजूद धातु को विस्थापित कर उसका स्थान ग्रहण क्र लेता है तब ऐसी अभिक्रिया को विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया कहते है। विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया दो प्रकार की होती है जो निम्न है :-
  • एकल विस्थापन अभिक्रिया 
  • उभय विस्थापन अभिक्रिया 

एकल विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

वह अभिक्रिया जिसमे किसी यौगिक में मौजूद किसी परमाणु या परमाणुओं के समूह को किसी दुसरे परमाणु द्वारा विस्थापित कर दिया जाता है ,एकल विस्थापन अभिक्रिया कहलाती है। जैसे आयरन की अभिक्रिया जब कापर सलफेट से होती है तब  आयरन ,कापर को विस्थापित कर उत्पाद के रूप में आयरन सलफेट तथा कापर का निर्माण करता है जैसे निचे दिखाया गया है :

CuSO4 + Fe → FeSO4 + Cu

उभय  विस्थापन रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

इस रासायनिक अभिक्रिया में दो यौगिक अपने आयन का आदान प्रदान कर दो नए यौगिक का निर्माण करते है। जैसे सोडियम क्लोराइड तथा सिल्वर नाइट्रेट के अभिक्रिया के बाद उत्पाद के रूप में सोडियम नाइट्रेट तथा सिल्वर क्लोराइड का निर्माण होता है। 

NaCl + AgNo3 → AgCl +NaNo3

अवक्षेपण रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

वैसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमे प्रतिफल ठोस के रूप में विलयन से बाहर हो जाता है। ऐसी अभिक्रिया अवक्षेपण रासायनिक अभिक्रिया कहलाती है। विलयन से ठोस के रूप में बाहर होने वाला पदार्थ अवक्षेप कहलाता है। जैसे सोडियम क्लोराइड तथा सिल्वर नाइट्रेट के अभिक्रिया के बाद उत्पाद के रूप में सिल्वर क्लोराइड का अवक्षेप के रूप में विलयन से बाहर हो जाता है। 

उदासीनीकरण रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

वैसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमे कोई अम्ल भष्म से अभिक्रिया कर लवण तथा जल का निर्माण करता है ,तो ऐसी अभिक्रिया उदासीनीकरण अभिक्रिया कहलाती है। 
HCl + NaOH → NaCl + H2O

प्रकाश  रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

वैसी रासायनिक अभिक्रिया जो प्रकाश के उपस्थिति में होती है प्रकाश रासायनिक अभिक्रिया कहलाती है। जैसे हाइड्रोजन तथा क्लोरिन के मिश्रण को अंधेरे में रखने पर उनके बीच किसी भी प्रकार की रासायनिक अभिक्रिया नहीं होती है लेकिन जब मिश्रण को धुप में रखा जाता है मिश्रण अभिक्रिया कर हाइड्रोजन क्लोराइड बनाता है। 

H2 + Cl2 → 2HCl

आक्सीकरण अवकरण रासायनिक अभिक्रिया क्या होती है?

यह एक ऐसी रासायनिक अभिक्रिया है जिसमे अभिकारक के बीच आक्सीकरण -अवकरण की घटना होती है। यह एक विशेष प्रकार की रासायनिक अभिक्रिया होती है जो हमेशा साथ साथ होती है। इसे रेडाक्स अभिक्रिया भी कहा जाता है। 

कुछ रासायनिक अभिक्रिया ऐसी होती है जिसमे उर्जा उत्पन्न होती है तथा कुछ ऐसी रासायनिक अभिक्रिया होती है जिसमे बाहर से उर्जा देने के बाद ही अभिक्रिया होती है। इस प्रकार उर्जा के आधार पर रासायनिक अभिक्रिया को दो प्रकार से वर्गीकृत किया है :-
  • उष्माशोषी रासायनिक अभिक्रिया 
  • ऊष्माक्षेपी रासायनिक अभिक्रिया 

उष्माशोषी रासायनिक अभिक्रिया किसे कहते है?

वैसी रासायनिक अभिक्रिया जिसको सम्पादित होने के लिए बाहर से उर्जा दी जाती है ऊष्मा शोषी रासायनिक अभिक्रिया कहलाती है।  

उष्माक्षेपी रासायनिक अभिक्रिया किसे कहते है?

वैसी रासायनिक अभिक्रिया जिसमे उर्जा उत्पन्न होती है  ऊष्माक्षेपी  रासायनिक अभिक्रिया कहलाती है। 

यह भी पढ़े 

Pintu Prasad
I am an Electrical Engineering graduate who has five years of teaching experience along with Cooperate experience.

Post a Comment

Subscribe Our Newsletter