-->

Search Bar

7805 voltage regulator IC : परिचय , कार्य तथा उपयोग - हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी

Post a Comment

7805 वोल्टेज रेगुलेटर  IC क्या है?

यह एक तीन टर्मिनल वाला इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस होता है जिसे वोल्टेज रेगुलेटर आईसी भी कहा जाता है। यह अपने आउटपुट टर्मिनल पर 5 वोल्ट का नियत वोल्टेज बनाए रखता है। इलेक्ट्रॉनिक्स में इस डिवाइस का उपयोग वैसे जगह पर किया जाता है जहा किसी दुसरे कॉम्पोनेन्ट को 5V के वोल्टेज की आवश्यकता होती है। जैसे LED बल्ब को ऑन करने या किसी दुसरे IC या माइक्रोप्रोसेसर को ऑन करने के लिए 5V की आवश्यकता होता है। मोबाइल फ़ोन या दुसरे विधुत उपकरण के लिए चार्जर बनाने के लिए इसका उपयोग किया जाता है। इसे 78XX श्रेणी का वोल्टेज रेगुलेटर भी कहा जता है। 

7805 Voltage रेगुलेटर आईसी की रेटिंग क्या होती है?

किसी भी डिवाइस के अधिकतम तथा न्यूनतम  इनपुट - आउटपुट  परिमाण के विवरण को उसका रेटिंग कहा जाता है। रेटिंग के ज्ञान होने की वजह से किसी भी व्यक्ति को उस डिवाइस को कैसे उपयोग करना है। इसका आईडिया मिल जाता है।  7805 आईसी की रेटिंग निम्न होती है:-
  • इनपुट वोल्टेज = 7 V - 35 V 
  • अधिकतम करंट आउटपुट = 1 A
  • आउटपुट वोल्टेज = 4.8V - 5V

7805 आईसी का पिन डिटेल क्या है?

पिन

संख्या

पिन

कार्य

व्याख्या

1

यह इनपुट पिन होता है 

इस पिन के माध्यम से IC को 7V से 35V इनपुट दिया जाता है |

इस पिन पर 7 से 35 वोल्ट डीसी के रूप में दिया जाता है | यहाँ आरोपित वोल्टेज बिना रेगुलेटेड आरोपित किया जाता है |

2

यह न्यूट्रल अर्थातग्राउंड पिन होता है 

चूँकि यह ग्राउंड होता है इसलिए इसका वोल्टेज शून्य होता है |

यह पिन इनपुट तथा आउटपुट दोनों के लिए उपयोग किया जाता है |

3

यह आउटपुट पिन होता है 

इसका वोल्टेज 5V होता है |

इस पिन पर IC का आउटपुट प्राप्त होता है | यहाँ प्राप्त वोल्टेज का परिमाण 5 V होता है | यह वोल्टेज इनपुट वोल्टेज बदलने से नहीं बदलता है |

यदि इस IC  के इनपुट तथा आउटपुट वोल्टेज के बीच अंतर को देखे तो एक बहुत बड़ा अंतर देखने को मिलता है। यह वोल्टेज का अंतर ,IC के अन्दर वोल्टेज ड्राप के कारण होता है और उष्मीय उर्जा के रूप में बर्बाद हो जाता है। इतनी ज्यादा मात्रा में उष्मीय उर्जा उत्पन्न होने की वजह से IC बहुत ज्यादा गर्म हो जाता है। 

यदि इस प्रकार उत्पन्न होने वाले उष्मीय उर्जा को मेन्टेन नहीं किया गया तो यह IC को ख़राब कर सकता है। इसके लिए दो काम किया जा सकता है। उत्पन्न होने वाली उष्मीय उर्जा को हीट शिंक के मदद से अवशोषित कर लिया जाए। या IC के अन्दर कम वोल्टेज ड्राप होने दिया जाए जिससे कम मात्रा में उष्मीय उर्जा उत्पन्न हो।  वोल्टेज ड्राप कम होने के लिए इनपुट वोल्टेज को हमेशा आउटपुट वोल्टेज से हमेशा 3V या 4V ज्यादा रखना चाहिए। 

7805 वोल्टेज रेगुलेटर को कैसे कनेक्ट किया जाता है?

इस IC को उपयोग करना बहुत ही आसान है। चूँकि इसके पास तीन टर्मिनल होते है। जिसमे पहला टर्मिनल इनपुट होता है तथा तीसरा टर्मिनल आउटपुट टर्मिनल होता है। बीच वाला दूसरा टर्मिनल जीरो वोल्ट पर दोनों (इनपुट तथा आउटपुट) के लिए कॉमन होता है।  जैसे की निचे के चित्र में दिखाया गया है। इनपुट टर्मिनल में ग्राउंड अर्थात दुसरे तथा पहले टर्मिनल के बीच एक कंडेंसर को जोड़ा जाता है। यह कंडेंसर इनपुट वोल्टेज में मौजूद हर्मोनिक्स को अवशोषित कर एक नियत वोल्टेज को IC में भेजता है। इनपुट के साथ जोड़े गए कंडेंसर का मान इनपुट वोल्टेज के अनुसार होता है। यदि हम इनपुट में 12 V से ज्यादा का वोल्टेज इनपुट को देते है तब इसके साथ एक 25V ,1000uf  कंडेंसर को जोड़ सकते है। इसके आउटपुट टर्मिनल के बीच भी एक कंडेंसर देखने को मिलता है। इस कंडेंसर का मुख्य कार्य आउटपुट वोल्टेज को नियत रखना तथा आउटपुट वोल्टेज में मौजूद हर्मोनिक्स को अवशोषित करना होता है। इसके लिए 0.10uf ,10V कंडेंसर का उपयोग किया जाता है। 
7805 वोल्टेज रेगुलेटर

7805 वोल्टेज रेगुलेटर में उत्पन्न होने वाली उष्मीय उर्जा को कैसे मैनेज किया जाए?

7805 वोल्टेज रेगुलेटर एक उच्च दक्षता वाला इलेक्ट्रॉनिक्स कॉम्पोनेन्ट नहीं होता है। इसमें बहुत ही ज्यादा मात्रा में विधुत ऊर्जा का ह्रास होता है। यदि इस IC को जलने से बचाना है तो इसके लिए एक प्रॉपर साइज़ का हीट सिंक उपयोग करना पड़ेगा। किसी वोल्टेज रेगुलेटर में होने वाली कुल विधुत उर्जा ह्रास की जानकारी हो जाए तब तब उसके लिए एक प्रॉपर साइज़ के हीट शिंक को बनाया जा सकता है।  इसके लिए निचे दिए गए फार्मूला का उपयोग किया जा सकता है। 
यदि 
प्रति सेकंड उत्पन्न उष्मीय उर्जा = H 
इनपुट वोल्टेज = Vi
आउटपुट वोल्टेज = 5V
आउटपुट करंट = I
तब उत्पन्न उष्मीय उर्जा को निम्न तरीके से लिखा जा सकता है। 
H = (V_{i}-5) I

7805 वोल्टेज रेगुलेटर की विशेषता क्या है?

  • यह नियत +5V उत्पन्न करता है। 
  • इसको मिनिमम +7V तथा अधिकतम +35V इनपुट दिया जा सकता है। 
  • इसका अधिकतम ऑपरेटिंग करंट 500 mA होता है। 
  • यह अधिकतम 125 डिग्री तापमान पर कार्य कर सकता है। 

7805 वोल्टेज रेगुलेटर का मूल्य कितना होता है?

यदि हम इस IC के मूल्य की बात करे तो यह 8 से 10 रूपये प्रति पिस के हिसाब से मिलता है। यदि आप इसे थोक में खरीदते है तब आपको यह कुछ सस्ता मिल जाता है। यदि आप अमेज़न से ऑनलाइन आर्डर करते है तब आपको मात्र 80 रु0 में 12 पिस मिल जाता है। ऑनलाइन आर्डर करने के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करे। यहाँ क्लिक करे 

यह भी पढ़े 

Post a Comment

Subscribe Our Newsletter