-->

Search Bar

Solid angle in Hindi : परिभाषा ,मात्रक ,विमा -हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी

Post a Comment

 Solid Angle क्या होता है?

किसी सतह को बनाने वाली बाहरी वक्र रेखा के सभी बिन्दुओ को कुछ दुरी पर स्थित एक बिंदु से मिलाने पर जो कोण बनता है उसे ठोस कोण या घन कोण कहा जाता है। इसे अंग्रेजी में Solid Angle कहा जाता है। ज्यामिति में ठोस कोण  एक निश्चित बिंदु से  किसी वस्तु द्वारा ,किसी क्षेत्र को Cover किये गए भाग को मापने का तरीका है। इससे यह ज्ञात किया जाता है की किसी एक बिंदु से देखने पर कोई वस्तु कितनी लंबी या बड़ी दिखाई देगी। जिस बिंदु से वस्तु को देखा जाता है उस बिंदु को Apex अर्थात शीर्ष कोण  कहा जाता है। 

Unit of Solid Angle | घन कोण का मात्रक क्या होता है ?

ठोस कोण को एक आयामहीन इकाई में व्यक्त किया जाता है जिसे स्टेरेडियन कहा जाता है तथा इसे Ω से सूचित किया जाता है। शीर्ष कोण को ढकने वाली काल्पनिक इकाई त्रिज्या वाले गोला के इकाई  सतह द्वारा शीर्ष पर अंतरित कोण को एक स्टेरेडियन कहा जाता है। 

Solid Angle Formula | घन कोण मापने का सूत्र क्या होता है?

ठोस कोण के परिभाषा से ज्ञात होता है की यह एक थ्री डी  कोण है। जो किस क्षेत्रफल द्वारा एक निश्चित बिंदु पर अंतरित किया जाता है। जैसे की निचे दिए चित्र में दिखाया गया है। पीले रंग के वृताकार क्षेत्र के सभी बिंदु को r दुरी पर स्थित बिंदु P पर मिलाने से जो कोण बनता है उसे घन कोण कहते है। 
Solid Angle  in hindi

बिंदु P पर बने हुए घन कोण को आंकिक रूप से ज्ञात करने के लिए निम्न फार्मूला का उपयोग किया जाता है :
\Omega = \frac{A}{r^{2}}
A =  क्षेत्रफल जिसके द्वारा कोण अंतरित किया गया  है। 
r  = बिंदु तथा क्षेत्रफल के बीच की दुरी है। 

उदहारण : 100 वर्ग मीटर के एक  आयताकार क्षेत्र द्वारा 5 मीटर की दुरी पर स्थित बिंदु पर अंतरित ठोस कोण ज्ञात करे। 

A = 100 वर्ग मीटर 
r = 5 मीटर 
ऊपर दिए गए सूत्र में निम्न वैल्यू को रखने पर 
\Omega = \frac{100}{5^{2}}=\frac{100}{25} =4\ sr
ठोस कोण = 4 Sr

घन कोण का कांसेप्ट Illumination इंजीनियरिंग में बहुत ही ज्यादा उपयोग किया जाता है। प्रकाश श्रोत से उत्पन्न प्रकाश सामान रूप से सभी दिशाओ में फैलता है। इसलिए प्रकाश उत्पन्न करने वाले श्रोत को बिंदु मानकर उससे उत्पन्न होने वाली प्रकाश की तीव्रता को किसी बिंदु पर ज्ञात किया जाता है। इकाई समय में किसी प्रकाश श्रोत से  उत्पन्न होकर सभी दिशाओ में फैलने वाली प्रकाश विकिरण को luminous Flux कहा जाता है तथा प्रति इकाई घन कोण से उत्पन्न होने वाली कुल  luminous Flux को  luminous Intensity कहा जाता है। 

यह भी पढ़े 


Post a Comment

Subscribe Our Newsletter