-->

Current Source in Hindi :- परिभाषा तथा प्रकार - हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी

Post a comment

 Current Source क्या होता है?

यह एक ऐसा दो टर्मिनलों वाला डिवाइस होता है जो किसी विधुत परिपथ में नियमित रूप से विधुत धारा के रूप में विधुत उर्जा को संचारित या परिपथ से विधुत धारा के फलन में विधुत उर्जा को अवशोषित करता है। Current Source से प्रवाहित विधुत धारा इसके टर्मिनल के बीच मौजूद विभवान्तर(voltage) से स्वतंत्र होता है अर्थात दोनों टर्मिनल के बीच मौजूद वोल्टेज पर निर्भर नहीं करता है। Current Source को कागज पर निम्न तरीके से दिखाया जाता है। Voltage Source की तरह इसमें भी विधुत धारा की दिशा निर्देशित करने के लिए एक तीर का प्रयोग किया जाता है। जैसे की निचे दिखाया गया है :-

Voltage Source की तरह Current Source भी दो प्रकार का होता है जो निम्न है :-
  • Ideal Current Source 
  • Practical Current Source

Ideal Current Source क्या होता है?

Ideal Current Source एक ऐसा विधुत उर्जा श्रोत होता है जिसको विधुत परिपथ में जोड़ने पर इससे प्रवाहित होने वाली विधुत धारा का शिखर मान (Peak Value) समय के साथ बदलता नहीं है। यह सदैव नियत बना रहता है। इसके टर्मिनल के बीच कितना भी बड़ा लोड क्यों न जुड़ा हो इससे प्रवाहित होने वाली विधुत धारा कम नहीं होती है। इसका आंतरिक प्रतिरोध अनंत(infinity) होता है। 
ideal current source

Practical Current Source क्या होता है?

Practical Current Source एक ऐसा विधुत उर्जा श्रोत होता है जिसको विधुत परिपथ में जोड़ने पर इससे प्रवाहित होने वाली विधुत धारा का मान अपने शिखर मान (Peak Value) से थोडा कम हो जाता है तथा यह समय के साथ बदलता रहता है। Practical Current Source के समान्तर में एक प्रतिरोध को जोड़कर इसे ideal Current Source की तरह दिखया जा सकता है। 
Practical current Source

यह भी पढ़े 

Related Posts

Post a comment

Subscribe Our Newsletter