-->

Varactor Diode In Hindi :- परिभाषा ,कार्य सिद्धांत तथा उपयोग - हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी

Post a comment

 Varactor Diode क्या होता  है?

Varactor Diode एक प्रकार का सेमीकंडक्टर इलेक्ट्रॉनिक्स डिवाइस होता है जिसका उपयोग इलेक्ट्रॉनिक्स इंडस्ट्री में किया जाता है। Varactor Diode का आंतरिक Capacitance बाहर से आरोपित Reverse Voltage पर निर्भर करता है। इसका capacitance रिवर्स वोल्टेज को बदलने से बदलता है। Varactor Diode हमेशा Reverse Bias में ही कार्य करता है। यह Voltage dependent सेमीकंडक्टर डिवाइस होता है अर्थात इसका आउटपुट ,इनपुट वोल्टेज पर निर्भर करता है। Varactor Diode को Varicap, Voltcap, Voltage Variable Capacitance, or Tunning diode के नाम से भी जाना जाता है। 

Symbol of Varactor Diode

अन्य PN diode की तरह Varactor diode को भी Symbol से दिखया जाता है। Varactor Diode में भी दो टर्मिनल होते है जिन्हें एनोड तथा कैथोड कहा जाता है। Varactor Diode के Symbol में एक तरफ साधारण डायोड के Symbol तथा दुसरे टर्मिनल के तरफ Capacitor को  दिखाया जाता है। जैसे की निचे दिखाया गया है :-
Varactor Diode In Hindi

Varactor Diode का कार्य सिद्धांत

अन्य diode की तरह इस diode को भी P तथा N प्रकार के सेमीकंडक्टर से बनाया जाता है। P प्रकार के पदार्थ में होल्स मुख्य आवेश वाहक होते है तथा N -प्रकार के पदार्थ में इलेक्ट्रॉन्स मुख्य आवेश वाहक होते है। जब in दोनों प्रकार के पदार्थो को आपस में जोड़ा जाता है तब PN Junction बनता है। इस PN Junction के बीच में एक न्यूट्रल क्षेत्र बन जाता है जिसे Depletion लेयर कहते है। यह depletion लेयर P तथा N क्षेत्र से प्रवाहित होने वाले आवेश वाहकों अपने से होकर जाने से रोकता है। अर्थात Depletion लेयर एक इंसुलेटिंग मटेरियल की तरह दोनों (P तथा N) के बीच कार्य करता है। P तथा N दोनों एक प्लेट की तरह कार्य करते है जिसके बीच में Depletion लेयर एक इंसुलेटिंग मटेरियल की तरह होता है। जिससे Varactor Diode एक Parallel Plate Capacitor की तरह कार्य करने लगता है। इस प्रकार Varctor डायोड में उत्पन्न Capacitance को CT द्वारा निरुपित किया जाता है तथा निम्न सूत्र द्वारा ज्ञात किया जाता है :-
Varactor Diode Capacitance
जहाँ 
દ = सेमीकंडक्टर पदार्थ का Permitivity है 
A = P तथा N का क्षेत्रफल 
W = Depletion layer की चौडाई 
varactor diode in hindi

चूँकि varactor Diode को केवल Reverse Bias में ही ऑपरेट किया जाता है। जब diode के दोनों टर्मिनल के बीच रिवर्स वोल्टेज को  बढाया जाता है  तब depletion लेयर की चौडाई बढ़ने लगती है जिससे capacitance का मान घटने लगता है तथा इसके विपरीत जब रिवर्स वोल्टेज को घटाया जाता है तब तब Depletion लेयर की चौडाई घटने लगती है जिससे Capacitance का मान बढ़ने लगता है। इस प्रकार Varactor के दोनों टर्मिनल के बीच आरोपित वोल्टेज  को बदलकर इसके capacitance को नियंत्रित किया जाता है। 

Varactor Diode के उपयोग 

इस diode का उपयोग निम्न तरीके से विभिन्न विधुत सर्किट में किया जाता है :-
  • Tuned circuit
  • FM Modulators
  • Automatic Frequency Control Device
  • Adjustable Filter
  • Television Receiver

Varactor Diode उपयोग का लाभ 

  • यह अन्य diode के तुलना में कम Noisy होता है। 
  • यह सस्ता तथा Reliable होता है। 
  • यह आकर में छोटा तथा वजन में हल्का होता है। 

यह भी पढ़े 

Related Posts

Post a comment

Subscribe Our Newsletter