- dakhil kharij online | Khasara number | पूरी जानकारी हिंदी में - इलेक्ट्रिकल डायरी:हिंदी इलेक्ट्रिकल डायरी

dakhil kharij online | Khasara number | पूरी जानकारी हिंदी में

Dakhil Kharij Bihar में क्या होता है ?

बिहार  में दाखिल खारिज की प्रक्रिया  ऑनलाइन होने की प्रतीक्षा करने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है।बिहार  सरकार ने अब दाखिल खारिज  करने की प्रक्रिया को पूरी तरह से ऑनलाइन कर दिया गया है। 

प्रक्रिया ऑनलाइन होने की वजह से अब बिहार के निवासियों को इसके लिए किसी भी सरकारी अधिकारी के ऑफिस जा कर चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दाखिल खारिज राजस्व विभाग द्वारा जारी किया जाने वाला किसी भी संपत्ति के लिए सबसे अहम दस्तवेज है। 

यदि आपने अपनी सम्पति अपने नाम से नहीं कराया है तो इस कंडीशन में भविष्य में आपको इसके से परिणाम झेलने पड़ सकते हैं।

अगर आपके पास कोई भी संपत्ति है और चाहे उसकी रजिस्ट्री आपके नाम पर क्यों न हो, लेकिन उसकी दाखिल खारिज आपके नाम से नहीं है तो सरकार के मुताबिक वह प्रॉपर्टी उसी व्यक्ति की है जिसके नाम से दाखिल खारिज दर्ज है।

Dakhil Kharij क्या होता है ?

दाखिल ख़ारिज दो शब्द से मिलकर बना है। पहला दाखिल जिसका मतलब होता है अपने नाम करना तथा दूसरा शब्द है ख़ारिज जिसका मतलब होता है -नाम से हटाना। 

अगर इन दोनों शब्दों को आपस में मिलाये तो दाखिल ख़ारिज का मतलब होता है किसी सम्पति से उसके पुराने मालिक का नाम हटाकर किसी दूसरे व्यक्ति को उस संपत्ति का मालिक बनाना। 

बिहार में जब कोई व्यक्ति अपनी जमीन किसी दूसरे व्यक्ति को बेचता है तब उस जमीन से संबंधित खेसरा नंबर को जमीन खरीदने वाले व्यक्ति के खाता संख्या में समलित करना और यह प्रक्रिया दाखिल ख़ारिज कहलाती है। यह एक सरकारी प्रक्रिया है। 

Bihar में Dakhil Kharij Online कैसे करे ?

यदि आपने किसी व्यक्ति से कोई जमीन खरीदी है और उसका दाखिल ख़ारिज करना चाहते है तब आप इस काम को ऑनलाइन तरीका से आसानी से कर सकते है। इसके लिए आप नीचे दिए वीडियो को देख सकते है। 

khata  number क्या होता है ?

जिस प्रकार किसी व्यक्ति का बैंक खाता नंबर किसी बैंक में होता है जिसमे वह अपने सभी तरह के रूपए पैसे का हिसाब रखता है ठीक उसी प्रकार राजस्व विभाग के पास भी राज्य के निवासियों का एक खाता नंबर होता है जिसमे किसी व्यक्ति विशेष के नाम से पंजीकृत कुल जमीन का हिसाब रहता है। इसी संख्या को खाता संख्या (Khata Number) कहते है। जब कोई व्यक्ति अपने जमीन का कोई हिस्सा किसी दूसरे व्यक्ति को बेचता है तब उस जमीन के भाग को उसके खाते से निकालकर खरीदार के खाता में डाल दिया जाता है। 

khasra number क्या होता है ?

राजस्व विभाग ने राज्य के अंदर पड़े जमीन को टुकड़ो में बाँटकर रखा है। जमीन के इस प्रत्येक टुकड़े को किसी एक नंबर द्वारा चिन्हित किया है। किसी एक जमीन से संबंधित इस संख्या को ही khasra number कहते है। जब कोई व्यक्ति अपना जमीन किसी दूसरे व्यक्ति को बेचता है तब उस ज़मीन से संबंधित khasra number नंबर को उसके Khata Number से निकालकर खरीदने वाले व्यक्ति के खाते में पंजीकृत कर दिया जाता है।  
Powered by Blogger.